पोशाक

पोशाक
प्रत्येक गुरुवार प्रातः 8:०० बजे
प्रत्येक गुरुवार को बाबा को एक पोशाक पहनाई जाती है जो भक्त पहले आ कर अपना नाम लिखा देता है उसकी पोशाक पहले पहनाई जाती है यह क्रम वार चलता है बाबा की पोशाक भक्त अपने घर से भी बना कर ला सकते हैं |

Learn More

मंगल स्नान

मंगल स्नान
प्रत्येक गुरुवार प्रातः 8:०० बजे
बाबा का मंगल स्नान प्रत्येक गुरूवार को पूर्ण विधि विधान से पूर्ण मंतोच्चारन के साथ किया जाता है | इसके लिए बाबा के दरवार में एक पर्ची पर अपना नाम लिखकर या फ़ोन पर अपना नाम लिखवाना होता है जोकि गुरुवार से कम से कम दिन पहले लिखना आवश्यक है उसके पश्चात् १० भक्तो की पर्ची निकाल कर उन्हें फ़ोन द्वारा सूचित किया जाता है पूजा का समस्त सामान साईधाम की तरफ से निशुल्क दिया जायेगा |

PHONE NO. 09455780511

Learn More

About Saidham Shikarpur

श्री साईधाम – शिकारपुर का शिलान्यास दिनाॅंक 21 जुलाई 2011 में तथा साईबाबा की मूर्ति की स्थापना 23 फरवरी 2015 में शिरडी के पूर्व महन्त श्री प्रमोद मेडी द्वारा पूर्ण विधि विधान से की गयी है। इस धाम के निर्माण की प्रेरणा श्री अशोक जगदीश प्रसाद गर्ग-मुम्वई वालों द्वारा दी गयी। जिसके पश्चात उक्त धाम का निर्माण ट्रस्ट द्वारा जन सहयोग से किया गया। इस धाम में बाबा की एक द्वारकामाई जिसमें बाबा अपने भक्तों के साथ विराजमान है वनी हुई है। इस धाम के वाहरी दीवार पर साईबाबा के जीवन चरित्र की सुन्दर कलाकृतियाॅं बनी हुई हैं। मुख्य भवन धौलपुर मार्वल से राजस्थान के कुशल कारीगरों द्वारा विभिन्न प्रकार की चित्रकारी करते हुए वनाया गया है। मुख्य भवन का फर्श इटेलियन मार्वल, दरवार वियतनाम मार्वल तथा दरवार में शीशे की चित्रकारी करते हुए सभी धर्मों के इष्ट देवताओं का चित्रण किया गया है जोकि वहुत ही उत्कृष्ट है। उक्त धाम में भक्तगणों हेतू सून्दर पार्क जलपान हेतू केन्टीन का निर्माण व शीतल जल हेतू उचित व्यवस्था की गयी है।

DAILY SCHEDULE

आरती ग्रीष्म कालीन

15 February to 14 October

काकर आरती    –   7:00 प्रातः

प्रातः आरती       –   8 :00 प्रातः
मध्यान आरती    –  12:00 दोपहर
धूप आरती          –  7 :00 साय
सेज आरती         –  9 :00 रात्रि

आरती शीत कालीन

15 October to 14 February 

काकर आरती     –  7:30 प्रातः
प्रातः आरती        – 8 :00 प्रातः
मध्यान आरती    –  12:00 दोपहर
धूप आरती          –  6 :00 साय
सेज आरती         –  8 :00 रात्रि

विशेष कार्यक्रम

Every Thursday ( गुरुवार )

मंगल स्नान  –   7 :45 प्रातः 
पोशाक       –    8 :00 प्रातः 
मध्यान भोग –   12 :17 दोपहर 
संध्या भोग    –     7 :22 सायं